जीत नहीं पाता तो उसको बदनाम करने पर तूल जाता है SRK किंग खानज़ब कोई किसी से जीत नहीं पाता तो वो उसको बदनाम करने पर तूल जाता है SRK किंग खान 80
कहावत ज़ब कोई किसी से जीत नहीं पाता तो वो उसको बदनाम करने पर तूल जाता है SRK किंग खान

कहावत ज़ब कोई किसी से जीत नहीं पाता तो वो उसको बदनाम करने पर तूल जाता है SRK किंग खान

shahrukkh young कहावत ज़ब कोई किसी से जीत नहीं पाता तो वो उसको बदनाम करने पर तूल जाता है SRK किंग खान

कहावत ज़ब कोई किसी से जीत नहीं पाता तो वो उसको बदनाम करने पर तूल जाता है SRK किंग खान

दिल्ली जामिया कॉलेज मे पढ़ने वाला एक स्टूडेंट पिता के मृत्यु के बाद मुंबई मे तक़दीर की तलाश मे पहुंचा थाना कोई घर, ना कोई पहचान, ना कोई हुनर, ना कोई गॉडफादर!लेकिन बन्दे मे लगन, मेहनत, आत्मबिस्वास और कुछ कर गुजरने का जज्बा कूट कूट कर भरी थी ! वो दौर 1980 का था ज़ब एक लड़का मुंबई के बांद्रा स्टेशन पर कॉपी कलम स्टेशनरी की दुकान पर!अपनी पहली नौकरी 400 रूपये महीने पर ज्वाइन किया,,,

SRK किंग खान: लड़का बोला पैसा क्या मिलेगी, नीता बोली 60 रूपये रोजाना… लड़का बोला डन

SRK किंग खान वो मुंबई मे उसकी दस्तक की शुरुआत थी! उसी स्टेशनरी की दुकान पर उसकी मुलाक़ात नीता चंद्रा से हुई नीता धारावाहिक मे पर्दे के पीछे काम करती थी ! नीता ने कहा सुंदर हो, स्मार्ट हो, फराटेदार अंग्रेजी बोल लेते हो, धारावाहिक मे पर्दे के पीछे काम करोगे! लड़का बोला काम क्या है! नीता बोली सेट लगाना, सेट उजाड़ना और सेट की सफाई भी! लड़का बोला पैसा क्या मिलेगी, नीता बोली 60 रूपये रोजाना… लड़का बोला डन ! वो उस लड़के की मंजिल की पहली सीढ़ी थी,सेट पर काम करते करते धारावाहिक दिल दरिया मे डायरेक्टर निधि चोपड़ा को नये कलाकार की तलाश थी!,,,

SRK किंग खान ऑडिसन चल रहा था और लड़के ने एक छोटा सा रोल पा लिया.. वो मंजिल की दूसरी सीढ़ी थी! धारावाहिक दिल दरिया मे लड़के की काम की सराहना हुई,, लड़के को दूसरा धारावाहिक मे बड़ा रोल मिला! धारावाहिक का नाम था, सर्कस और सर्कस मे उस लड़के ने कमाल का दम दिखाया!सन 1991 का दौर था,

ज़ब डायरेक्ट यस चोपड़ा एक नवयुवक विलेन का तलाश कर रहे थे!और उस लड़के ने ऑडिसन दिया और फ़िल्म मे विलेन का रोल मिल गया,,वो फ़िल्म थी” डर “डर मे हीरो सनी देओल थे, ज़ब सनी देओल, धर्मेंद्र और हेमा मालिनी का जलवा बॉलीवुड पर छाया हुआ था!और इस लड़के ने फ़िल्म डर मे अपने अभिनय से सनी देओल को डरा दिया!

SRK किंग खान बाज़ीगर मे उस लड़के को पहला लिड रोल मिला क्युकी बाज़ीगर को बहुत सारे एक्टर ठुकरा चुके थे!

SRK किंग खान लड़के ने बेस्ट फ़िल्म फेयर का पहला अवार्ड जीता और यस चोपड़ा का चहेता बन गया! पहला हीरो वाली छोटी किरदार फ़िल्म दीवाना मे मिला और लड़के ने बॉलीवुड मे समा बांध दिया! वो दौर 1992 से 1995 का था ज़ब संजय दत्त, मिथुन चक्रबोती, धर्मेंद्र, सनी देओल और अमिताभ बच्चन की बॉलीवुड मे हुकूमत चलती थी! बाज़ीगर मे उस लड़के को पहला लिड रोल मिला क्युकी बाज़ीगर को बहुत सारे एक्टर ठुकरा चुके थे!

कहावत ज़ब कोई किसी से जीत नहीं पाता तो वो उसको बदनाम करने पर तूल जाता है SRK किंग खान

डायरेक्टर अब्बास मस्तान ने अपनी अंतिम कहानी इस लड़के को सुनाया और लड़के ने हा कह दिया! बाज़ीगर के बाद इस लड़के ने जो बाज़ी खेली वो इतिहास बन गया! बॉलीवुड को अमेरिका और यूरोप के बजारों तक पहुंचाने वाला यही पहला लड़का है!आज ये लड़का दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा अमीर स्टार और भारत का सबसे बड़ा टैक्स पेयर स्टार है!

नाम तो आप जानते ही होंगे ज़ब ध्यान से इतना लम्बा पढ़ लिया तो एक कहावत भी सुनते जाओ ! सरकार ने शाहरुख़ खान से लव जिहाद का बदला लेने के लिए उनके बेग़ुनाह बेटे आर्यन खान को साजिस कर फसाया है, 3000 kg अडाणी ड्रग्स छोड़ कर एक लड़के को बलि का बकरा बनाया है ! ज़ब कोई किसी से जीत नहीं पाता तो वो उसको बदनाम करने पर तूल जाता है

Kajal Manikya
Author: Kajal Manikya

Leave a Reply