9 साल की दलित बच्ची के साथ बलात्कार पंडित पुजारी उसके साथी ने घिनौना अपराध को दिया अंजाम
 दिल्ली में 9 साल की दलित बच्ची के साथ बलात्कार हत्या और लाश जलाया,पंडित पुजारी ने साथियों के साथ मिलकर घिनौना अपराध को दिया अंजाम

 दिल्ली में 9 साल की दलित बच्ची के साथ बलात्कार हत्या और लाश जलाया,पंडित पुजारी ने साथियों के साथ मिलकर घिनौना अपराध को दिया अंजाम

 दिल्ली में 9 साल की दलित बच्ची के साथ बलात्कार हत्या और लाश जलाया,पंडित पुजारी ने साथियों के साथ मिलकर दिया घिनौना अपराध का अंजाम

 दलित बच्ची के साथ बलात्कार, दिल्ली, कैंट इलाके में नांगल गांव में 9 साल की दलित बच्ची के साथ पंडित पुजारी राधे श्याम और उसके साथी ने मिलकर किए सामूहिक बलात्कार  और हत्या और परिवार के बिना इजाजत श्मशान में बच्ची की लाश जलाया,पुलिस ने मामले को दबाने की की पूरी कोशिश

 दिल्ली में 9 साल की दलित बच्ची के साथ बलात्कार हत्या और लाश जलाया,पंडित पुजारी ने साथियों के साथ मिलकर घिनौना अपराध को दिया अंजाम

दिल्ली कैंट श्मशान में 1 अगस्त 2021 को 9 वर्ष की मासूम दलित बच्ची के साथ दिल्ली कैंट शमशान का पंडित पुजारी ने अपने साथियों के साथ मिलकर मासूम बच्ची के साथ सामूहिक बलात्कार  और हत्या कर परिवार वालों के मना करने के बावजूद बेटी  का  लाश जला दिया और श्मशान घाट के गेट पर ताला लगा दिया ताकि पीड़ित बच्चे के मां बाप बाहर जाकर पुलिस या पब्लिक को सूचना ना दे पाए 

शुरुआती दौर पर पुलिस भी लापरवाही कर मामले को पूरा दबाने की कोशिश किया पुलिस ने मृत बच्ची के मां-बाप को थाने में 16 से 17 घंटा बैठा कर रखा और कहीं जाने नहीं दिया  जिस पर स्थानीय लोग सामाजिक कार्यकर्ता और राजनीति कार्यकर्ता पुलिस के रवैए पर सवाल उठा रहे हैं जबकि  पुलिस का कहना है की पुलिस मामले की निष्पक्ष जांच करेगी और इस मामले  से संबंधित चार मुख्य आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है

पीड़ित परिवार राजस्थान के भरतपुर का रहने वाला है और दलित जाति से संबंधित है रोजगार की तलाश में दिल्ली में आए थे रोजगार न मिलने के कारण कूड़ा बीन कर गुजर बसर करते थे बच्चे के पिता ने बताया कि मेरी बेटी अक्सर श्मशान घाट में पानी भरने के लिए जाया करती थी इसलिए हमें कभी ऐसा नहीं लगा किस प्रकार का कोई  घृणित घटना  हो जाएगा उसके पिता का दर्द आपको देखा नहीं जाएगा उन्होंने कहा कि वह मेरी इकलौती औलाद थी पंडित पुजारी और उसके साथियों ने आखरी बार मेरे बिटिया का चेहरा भी नहीं देखने दिया

Table of Contents

दलित बच्ची के साथ बलात्कार बलात्कारी पंडित पुजारी और उसके साथी ने मेरी बच्ची की लाश को जला दिया 

 मृतक बच्ची के परिवार ने बताया  की रविवार शाम  5:30 पर मेरी बेटी श्मशान घाट में पानी लेने गई जिसके बाद वापस नहीं आई,  बलात्कारी पंडित पुजारी ने  किसी को भेजकर लड़की के मां को बुलाया और बताया कि तुम्हारी बिटिया मर चुकी है कहा कि वाटर कूलर में बिजली आ रहा था जिस वजह से वह मर गई बलात्कारी पंडित  और उसके साथियों ने बताया पुलिस और डॉक्टर को लाने की जरूरत नहीं है

बच्ची  को यही जला देते हैं  मृत बच्चे की मां ने  मना कर दिया जिस पर  पुजारी और उसके साथियों ने जबरन बच्चे की मां को एक कागज पर 10 खत करवाने लगे हम दोनों ने विरोध कर मना कर दिया उसके बावजूद बलात्कारी पंडित पुजारी और उसके साथी ने मेरी बच्ची की लाश को जला दिया 

 जब हम लोगों ने जोर-जोर से चिल्लाना शुरू कर दिया रोना भी रखना शुरू कर दिया तो गांव के लोग आए और उनमें से किसी व्यक्ति ने 100 नंबर पर कॉल कर किया था और लोगों ने पानी डालकर आग बुझाई  जिसमें खोपड़ी और पैर का हिस्सा जलने से बच गया 

जब भीड़ ज्यादा हो गई और लोग पंडित को मारने जा रहे थे तो भीड़ देखकर पंडित ने मुझसे अपनी गलती मानते हुए कहा की हमसे गलती हो गई है पर मामला को यहीं खत्म कर दो बात को आगे मत बढ़ाओ

दलित बच्ची के साथ बलात्कार, पुलिस इनके बात को नजरअंदाज करते हुए मामले को दबा रहे थे उल्टा ही  बच्चे के मां-बाप को 16 17 घंटे तक बैठा कर रखें उसके बाद छोड़ा

मृत बच्चे के पिता का कहना है की जब 100 नंबर पुलिस श्मशान घाट पर आई तो पुलिस ने हमसे कोई बातचीत नहीं किया और काफी देर रात 2:30 पर थाने लेकर के गए वहां पर जाकर हम से पूछताछ किए जिसमें हमने बताया कि हमारी बेटी के साथ बलात्कार हुआ है क्योंकि उसका चेहरा नीला पड़ा था होंठ नीले पड़े थे जीभ मिली पड़ी थी शुरुआती दौर में मेरी पत्नी ने मेरी बेटी का मृत चेहरा देख पाई थी लेकिन पुलिस इनके बात को नजरअंदाज करते हुए मामले को दबा रहे थे उल्टा ही  बच्चे के मां-बाप को 16 17 घंटे तक बैठा कर रखें उसके बाद छोड़ा

 मृत बच्ची  की मां का कहना है पीर बाबा के दरगाह से एक नीली स्कूटी पर कोई आया और मुझसे कहा कि पंडित बुला रहा है मैंने पूछा पांडे जी को बुला रही हूं उस व्यक्ति ने कहा घाट पर चलो जब घाट पर पहुंची तो वहां पर पंडित ने बताया की करंट लगने से तेरी बेटी  की मौत हो गई है जब मैंने कहा कि कि मैं सो नंबर फोन कर रही हूं तब उसने मुझको मना कर दिया फिर मैं गांव वाले को बुलाने के लिए जाने लगी तो गेट पर ताला मरवा दिया कि मैं बाहर ना जा तब मुझे पूरा यकीन हो गया  की जरूर मेरे बेटे के साथ इन लोगों ने कुछ गलत किया है

पंडित ने ना ही मुझसे आधार कार्ड मांगा ना कोई और दस्तावेज बार-बार पंडित यही जोर दे रहा था कि पुलिस को कॉल करेगी तो मामला बढ़ जाएगा मामले को यहीं रफा-दफा कर लो बच्ची की मां ने बताया कि मेरी बेटी   निकर और टी शर्ट पहनी हुई थी हाथ में चोट लगी थी होंठ नीले पड़े थे यह नीला पड़ गया था जब गुस्साई भीड़ ने  पंडित पुजारी को मारने की कोशिश कर रहे थे तब पुलिस उसको बचा रही थी

दलित बच्ची के साथ बलात्कार मामले को तूल पकड़ता देख दिल्ली महिला आयोग अध्यक्ष स्वाति मालीवाल आनन-फानन में 3 अगस्त को पुलिस को सम्मन जारी किया

मामले को तूल पकड़ता देख दिल्ली महिला आयोग अध्यक्ष स्वाति मालीवाल आनन-फानन में 3 अगस्त को पुलिस को सम्मन जारी किया जिसमें उन्होंने पुलिस से रिपोर्ट मांगा है और सील बंद लिफाफे में मामले की पूरी फाइल एफ आई आर की कॉपी फैमिली की बयान की कॉपी गिरफ्तार अभियुक्तों की पूरी डिटेल और अब तक पुलिस ने क्या कार्यवाही किया है क्या  जांच किया है  उसका पूरा जानकारी डीसीडब्ल्यू ने मांगा है 

अभी तक मामले की जांच कहां तक पहुंचा है और परिवार वालों क्या मांग किया है बच्ची की मां ने कहा है कि आरोपियों को भी मेरी बेटी की तरह जला दिया जाना चाहिए मैं उनके लिए फांसी की सजा चाहती हूं उधर एससी एसटी एक्ट और आईपीसी की धारा 304 342 201 के तहत मामला दर्ज किया गया पुलिस ने बलात्कारी पंडित पुजारी राधेश्याम और उसके साथी कुलदीप तथा लक्ष्मी नारायण और मोहम्मद सलीम को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है

 3 सदस्य मेडिकल बोर्ड का गठन हुआ है जो बच्चे के शव को बचे हुए सिर और पैर का पोस्टमार्टम करेंगे तथा असिस्टेंट कमिश्नर  ऑफ पुलिस  रैंक का अधिकारी मामले की जांच करेगा तथा अभियुक्त लोगों को रिमांड पर लेकर पूछताछ कर पता किया जाएगा और पुलिस में अभियुक्तों के कपड़ों को भी कब्जे में लिया है जो उन्होंने घटना के समय पहन रखे थे अभियुक्तों का मेडिकल जांच पहले ही करा दिया गया था

 ज्वाइंट कमिश्नर ऑफ पुलिस जसपाल सिंह ने कहा है कि बच्ची के  परिवार गांव या अन्य कोई भी व्यक्ति को कुछ कहना अगर है तो पुलिस को लिखित रूप में दे सकते हैं इस मामले  ने प्रदर्शनकारियों को समझाने बुझाने के लिए दिल्ली पुलिस के उच्च अधिकारी मंगलवार को क्षेत्र में पहुंचे और लोगों को आश्वस्त किया की जांच में स्पष्ट होगी और आरोपियों को बख्शा नहीं जाएगा 

दलित बच्ची के साथ बलात्कार, केवल सिर और पैर के बच्चे बॉडी के टुकड़ों से पोस्टमार्टम से नहीं पता चला सच्चाई पोस्टमार्टम से भी पुलिस को कुछ भी पता नहीं चल पाया, दलित बच्ची के साथ बलात्कार, करंट लगने से मृत्यु नहीं हुआ यह तो वजह साफ हो गया वाटर कूलर का जब फॉरेंसिक जांच हुआ तो उसमें भी ऐसी कुछ जानकारी नहीं मिली जबकि जानकारों का कहना है की पुलिस अगर तत्काल कार्रवाई करती घटना के फौरन बाद तो वाटर कूलर का बहुत कुछ जानकारी मिल जाता फॉरेंसिक टीम ने भी कुछ सैंपल कलेक्ट किए हैं 

दलित बच्ची के साथ बलात्कार,जनता में पुलिस  की रवैया को लेकर बहुत आक्रोश है लोग पुलिस जांच के तौर तरीके और उनके रवैए से काफी नाराज है लोगों का आरोप है कि पुलिस ने अभियुक्तों का ही कहा हुआ बयान को ज्यादा अहमियत  दिए हैं

पुलिस  की रवैया
 दलित बच्ची के साथ बलात्कार,जनता में पुलिस  की रवैया को लेकर बहुत आक्रोश है लोग पुलिस जांच के तौर तरीके और उनके रवैए से काफी नाराज है लोगों का आरोप है कि पुलिस ने अभियुक्तों का ही कहा हुआ ज्ञान को ज्यादा अहमियत  दिए हैं

दलित बच्ची के साथ बलात्कार,जनता में पुलिस  की रवैया को लेकर बहुत आक्रोश है लोग पुलिस जांच के तौर तरीके और उनके रवैए से काफी नाराज है लोगों का आरोप है कि पुलिस ने अभियुक्तों का ही कहा हुआ बयान को ज्यादा अहमियत  दिए हैं और जानबूझकर मामले को हल्की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है जिसमें लापरवाही से हुई मौत सबूत मिटाना एससी एसटी एक्ट तथा परिवार के बताए बिना ही लाश जला देने की धाराएं आदि लगाई गई है

जब  बाद में एससी एसटी आयोग ने हस्तक्षेप किया है सब पुलिस ने यूटन लिया है और गैंगरेप हत्या तथा पोक्सो एक्ट जैसी गंभीर धाराएं जोड़ी है मृत बच्ची का मां का कहना है कि वह लोग पुलिस से कई बार  कहा कि हमारी बेटी के साथ गलत हुआ है बलात्कार हुआ है हत्या हुई है किडनैपिंग हुई है पर पुलिस मेरे पति को एक अलग कमरे में ले जाकर मार रहे थे बयान बदलने के लिए जबरन दबाव दे रहे थे पुलिस ने गुनाहगारों को बचाने का पूरा भरसक प्रयास किया है 

क्षेत्र में विरोध प्रदर्शन बच्ची के मौत के बाद नाराज स्थानीय लोगों ने तथा सामाजिक कार्यकर्ताओं ने जोरदार विरोध प्रदर्शन किया और द्वारका के निर्भया चौक पर लोगों ने कैंडल मार्च निकाला कोरोना का ल्को देखते हुए ज्यादा भीड़ इकट्ठा नहीं हुई परंतु प्रदर्शन में निर्भया की मां आशा देवी भी हिस्सा लिया उन्होंने बच्ची के साथ ऐसी बर्बरता करने वालों को फांसी देने की मांग की इधर दिल्ली महिला कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने अमृता धवन के नेतृत्व में केंद्र और दिल्ली सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया और

दलित बच्ची के साथ बलात्कार, इधर  दिल्ली मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पीड़ित परिवार से मिलकर उन्हें न्याय दिलाने का पूरा आश्वासन दिया है अपने ट्विटर हैंडल से उन्होंने बताया यह बच्ची के परिवार से मिला उनका दर्द बांटने का कोशिश किया परिवार को ₹1000000 सहायता के रूप में आर्थिक मदद दी

इधर  दिल्ली मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पीड़ित परिवार से मिलकर उन्हें न्याय दिलाने का पूरा आश्वासन दिया है अपने ट्विटर हैंडल से उन्होंने बताया यह बच्ची के परिवार से मिला उनका दर्द बांटने का कोशिश किया परिवार को ₹1000000 सहायता के रूप में आर्थिक मदद दी जाएगी और मामले का ऊंचा स्त्री मजिस्ट्रेट जांच होगी और जो भी इसमें दोषी होंगे उनको सजा दिलवाने के लिए महंगे से महंगे बड़ा वकील लाएंगे और उन्होंने केंद्र सरकार से आग्रह किया कि दिल्ली की कानून व्यवस्था पुलिस व्यवस्था दुरुस्त करने के कदम कड़े कदम उठाना चाहिए जिसमें हम केंद्र सरकार का पूरा सहयोग करेंगे

 दलित नेता  और बसपा सुप्रीमो ने मामले पर कड़ी आपत्ति जताते हुए कहां है एक मासूम दलित बच्चे का सामूहिक बलात्कार का और हत्या कर  लाश जला देना का जो जघन्य अपराध हुआ है इस मामले का उच्च स्तरीय जांच कर दोषियों को जल्द से जल्द फांसी की सजा होनी चाहिए 

भाजपा दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने इस जघन्य अपराध  पर कड़ी आपत्ति जताते हुए पीड़ित परिवार को आश्वासन दिया हम इस परिवार के साथ और दोषियों के अभिलंब सजा दिलाने की मांग की

राष्ट्र प्रहरी (एस) प्रमुख महेंद्र कुमार ने भी इस जघन्य अपराध की कड़ी निंदा की है, और केंद्र और दिल्ली सरकार से दोषियों को फांसी देने की मांग की है। और साथ ही सरकार से मांग किया है कि पीड़ित परिवार की सुरक्षा और आर्थिक मदद के तौर पर एक करोड़ धन राशि और सरकारी नौकरी दी जाये

और भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद रावण ने इस मामले पर आपत्ति जताई और कहा जब तक दोषियों को सजा नहीं मिल जाता है और मासूम बच्ची को न्याय नहीं मिल जाता है तब तक भीम आर्मी अपना संघर्ष जारी रखेगा

इधर कांग्रेस दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष अनिल चौधरी मामले पर कठोर आपत्ति जताते हुए कहा  न्याय दिलाने में जो भी कोर्ट का वकील से लेकर के अन्य सहयोग होगा उसने पीड़ित परिवार का पूरा मदद करेगी और मामले को लेकर के  कॉन्ग्रेस और तमाम राजनीतिक दलों  और सामाजिक संगठनों ने आंदोलन करना शुरू कर दिया है

 दिल्ली में 9 साल की दलित बच्ची के साथ बलात्कार हत्या और लाश जलाया,पंडित पुजारी ने साथियों के साथ मिलकर घिनौना अपराध को दिया अंजाम
Kajal Manikya
Author: Kajal Manikya

Leave a Reply