2021 धोबी अनिश कनौजिया यह भूल गये थे मानसिक स्वर्ण जाति बड़ी धर्म छोटा है
जाति बड़ी धर्म छोटा है,यह भूल गये थे मानसिक स्वर्ण धोबी अनिश कनौजिया, पुलिस को बड़ी सफलता मिली है, पुलिस ने 17 नामजद और पांच आरोपियों में से चार को गिरफ्तार किया है

जाति बड़ी धर्म छोटा है,यह भूल गये थे मानसिक स्वर्ण धोबी अनिश कनौजिया, पुलिस को बड़ी सफलता मिली है, पुलिस ने 17 नामजद और पांच आरोपियों में से चार को गिरफ्तार किया है

जाति बड़ी धर्म छोटा है,यह भूल गये थे मानसिक स्वर्ण धोबी अनिश कनौजिया, पुलिस को बड़ी सफलता मिली है, पुलिस ने 17 नामजद और पांच आरोपियों में से चार को गिरफ्तार किया है

अनिश कनौजिया हत्याकांड गोरखपुर पुलिस ने किया ग्राम पंचायत सचिव की हत्या का खुलासा, चार आरोपी गिरफ्तार के उरुवां ब्‍लॉक के ग्राम पंचायत सचिव अनिश कनौजिया हत्या मामले में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है. यहां पुलिस ने 17 नामजद और पांच आरोपियों में से चार को गिरफ्तार किया है

चर्चित अनिश कनौजिया हत्याकांड मामले में सोमवार को धोबी समाज के लोग सड़क पर उतर आए। नाराज लोगों ने कलक्ट्रेट में प्रदर्शन किया। अनीश के हत्यारोपितों को कड़ी सजा देने की मांग की। इसके बाद लोगों ने मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा।

गोरखपुर में अनिश कनौजिया और दीप्ति मिश्रा ने अपनी मर्जी से शादी की थी। लड़की के घर वालों ने अपना धर्म और जातीय उच्चता सिद्ध करने के लिए अनीश की हत्या कर दी। यह 21वीं सदी है। आजादी के इतने वर्ष बाद भी भारत मे कुछ नही बदला। ये जातीय घमंड न जाने और कितनों की बलि लेगा।
अनीश कनौजिया को हिंदू धर्म में पूर्ण आस्था थी, योगी के समर्थक थे, RSS शाखा से जुड़े हुए थे, लेकिन अफसोस फिर भी वह हिंदू नहीं बन सके।

Table of Contents

अनिश कनौजिया उन्होंने एक ब्राह्मण लड़की से शादी की। लड़की के घरवालों ने इसे धर्म के खिलाफ समझा और उन्होंने अनीश कनौजिया की हत्या कर धर्म की रक्षा की।

उन्होंने एक ब्राह्मण लड़की से शादी की। लड़की के घरवालों ने इसे धर्म के खिलाफ समझा और उन्होंने गोरखपुर में अनीश की हत्या कर धर्म की रक्षा की। जाति बड़ी धर्म छोटा है इससे यह साबित है कि जितनी जातिया उतने धर्म हैं हिन्दू शब्द तो जातियों को बेवकूफ बनाने के लिए है और लगभग बन रहे

अनीश कनौजिया R S S में था। व हिन्दू वाहिनी में बाबाजी का चेला भी था। इसलिए उसको पूरा भरोसा था।कि वह सम्पूर्ण हिन्दू बन गया है। लेकिन उसको नहीं मालूम था। R S S व भाजपा सिर्फ चुनाव में ही वोट के लिए हिन्दू मानती है। चुनाव के बाद तो अनीश धोबी जात का हो गया इस लिखते उसकी हत्या कर दी और वहां सम्मान कैसे मिलेगा ? पहले से ब्राह्मण बैठा है वहां।

उरुवां ब्‍लॉक में तैनात ग्राम पंचायत सचिव अनीश कन्‍नौजिया (35) की हत्‍या के मामले में पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है. गैर बिरादरी में शादी करने के कारण ग्राम पंचायत सचिव को अपनी जान गंवानी पड़ी. दो बाइक सवार चार बदमाशों ने 24 जुलाई को दोपहर ढाई बजे के आसपास उनकी सरेराह बेरहमी से धारदार हथियार से हत्‍या कर फरार हो गए थे. परिजनों ने उनके ससुरालवालों पर हत्‍या का आरोप लगाया था. पुलिस ने 17 नामजद और पांच आरोपियों में से चार को गिरफ्तार किया है. हालांकि घटना का अंजाम देने वाले चारों बाइक सवार बदमाश अभी पुलिस की पकड़ से दूर हैं.

गोरखपुर के एसपी साउथ एके सिंह ने घटना का खुलासा किया. उन्‍होंने बताया कि 24 जुलाई को दोपहर ढाई बजे गोला थानाक्षेत्र के उनौली गांव के रहने वाले अनीश कन्‍नौजिया की गोपालपुर के देवकली बाजार में निर्मम हत्‍या कर दी गई थी. इस हमले में उनके चाचा देवीदयाल भी गंभीर रूप से घायल हो गए. इस हत्‍या में वादी पक्ष की तहरीर पर थाना गोला में आईपीसी की धारा 302, 307, 506, 120बी और 3(2)5 एससी एसटी एक्ट अभियान पंजीकृत किया गया था. नामजद चार आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है

गोरखपुर के एसपी साउथ एके सिंह ने घटना का खुलासा किया. उन्‍होंने बताया कि 24 जुलाई को दोपहर ढाई बजे गोला थानाक्षेत्र के उनौली गांव के रहने वाले अनीश कन्‍नौजिया की गोपालपुर के देवकली बाजार में निर्मम हत्‍या कर दी गई थी. इस हमले में उनके चाचा देवीदयाल भी गंभीर रूप से घायल हो गए. इस हत्‍या में वादी पक्ष की तहरीर पर थाना गोला में आईपीसी की धारा 302, 307, 506, 120बी और 3(2)5 एससी एसटी एक्ट अभियान पंजीकृत किया गया था. नामजद चार आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

उनकी पहचान गगहा थानाक्षेत्र के देवकली धर्मसेन के रहने वाले मणिकान्त मिश्रा हालपता हरपुर थाना गोला, गोला थानाक्षेत्र के उनौली के रहने वाले विवेक तिवारी, अभिषेक तिवारी और सन्‍नी स‍िंह के रूप में हुई है. उन्‍हें कोर्ट में लाकर जेल रवाना किया गया है. शेष आरोपियों की गिरफ्तारी और घटना को अंजाम देने वाले अज्ञात लोगों की जानकारी के लिए पुलिस टीम लगी है. गोरखपुर समेत अन्‍य जनपदों में भी आरोपियों की तलाश की जा रही है. उन्‍हें विश्‍वास है कि पुलिस टीम को जल्‍द ही इसमें कामयाबी मिलेगी.

जाति बड़ी धर्म छोटा है,यह भूल गये थे मानसिक स्वर्ण धोबी अनिश कनौजिया, पुलिस को बड़ी सफलता मिली है, पुलिस ने 17 नामजद और पांच आरोपियों में से चार को गिरफ्तार किया है

गोरखपुर के गोला थानाक्षेत्र के उनौली गांव के 15 साल प्रधान रहे अनिल कन्‍नौजिया के छोटे भाई अनीश कनौजिया ने साल 2019 में कोर्ट मैरिज की थी. उरुवां ब्‍लॉक में तैनाती के तीन साल पहले उनके साथ में ट्रेनिंग कर रही गगहा के गांव की रहने वाली दीप्ति मिश्रा के सा‍थ प्रेम-प्रसंग हो गया था. उरुवां के बगल में गोला ब्‍लॉक में तैनाती के दौरान भी दोनों के मुलाकात की जानकारी होने पर दीप्ति के घरवालों ने उसके ऊपर पाबंदी लगा दी. उसके पिता उसे छोड़ने के साथ ही ड्यूटी कराकर साथ घर ले जाते रहे.

सालभर तक ऐसा चलने के बाद दीप्ति एक दिन पिता को चकमा देकर अनीश के साथ चली गई और कोर्ट मैरिज कर ली. उसके बाद दोनों ने एक वीडियो भी वायरल किया था और द‍ीप्ति मिश्रा के घरवालों से जान का खतरा बताते हुए एडीजी और गोरखपुर के एसएसपी समेत पुलिस इंस्‍पेक्‍टर से उन्‍हें और परिजनों को दीप्ति के घरवालों के द्वारा परेशान नहीं करने की अपील की थी.

पुलिस ने इस मामले में 17 नामजद और पांच अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया था. हालांकि पुलिस ने अभी चार नामजद आरोपियों को गिरफ्तार किया है. घटना को दुस्‍साहसिक तरीके से अंजाम देने वाले बदमाशों की पुलिस गोरखपुर और गोरखपुर के बाहर के जिलों में सरगर्मी से त‍लाश कर रही है.

गोरखपुर जिले के गोला इलाके के गोपालपुर बाजार में 24 जुलाई को सेक्रेटरी अनीश की हत्या के वांछित चार आरोपियों को पुलिस ने मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आरोपियों को कोर्ट में पेश किया जहां से जेल भेज दिया गया। पकड़े गए सभी आरोपी मुकदमे में नामजद हैं। इस मामले में पुलिस ने अनीश की पत्नी दीप्ति मिश्रा के मायके वालों समेत 17 लोगों पर हत्या, आपराधिक साजिश, हत्या की कोशिश की धाराओं में केस दर्ज किया था। पुलिस इस मामले में वांछित अन्य आरोपियों की तलाश में दबिश दे रही है। सभी घर छोड़कर फरार हैं।

पुलिस के मुताबिक वारदात में नामजद गगहा के देवकली निवासी और दीप्ति के बड़े पिता मणिकांत मिश्रा, दुबौली निवासी विवेक तिवारी, अभिषेक तिवारी और सन्नी सिंह को गिरफ्तार किया गया है। वारदात शनिवार को उस वक्त हुई थी, जब अनीश अपने चाचा देवीदयाल के साथ बाजार में गए थे। एक दुकान में हिसाब किताब करने के दौरान ही उनके मोबाइल पर फोन आया था और फिर वह बात करते हुए बाहर आ गए थे।

जाति बड़ी धर्म छोटा है,यह भूल गये थे मानसिक स्वर्ण धोबी अनिश कनौजिया, पुलिस को बड़ी सफलता मिली है, पुलिस ने 17 नामजद और पांच आरोपियों में से चार को गिरफ्तार किया है

इसी दौरान दो बाइक पर आए चार बदमाशों ने धारदार हथियार से उन पर हमला कर दिया था, जिसमें उनकी मौत हो गई थी। बचाव में गए चाचा भी घायल हो गए थे जिनका अभी मेडिकल कॉलेज में उपचार चल रहा है। पुलिस ने इस मामले में अनीश के बड़े भाई अनिल कन्नौजिया की तहरीर पर 17 नामजद और चार अज्ञात पर केस दर्ज किया था। तभी से आरोपियों की तलाश में थी कि मुखबिर के जरिए सूचना मिली कि चारों आरोपी देईडीहा के पास मौजूद है। इस सूचना पर पहुंची पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

एसपी साउथ अरुण सिंह ने कहा कि पुलिस ने चार नामजद आरोपितों को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश कर जेल भेजा है। चार अज्ञात बदमाशों के बारे में जानकारी जुटाकर उनकी गिरफ्तारी व अन्य की तलाश में जनपद व गैर जनपद में भी तलाश जारी है। जल्द ही उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Tejpratap Singh
Author: Tejpratap Singh

Leave a Reply