Haryana News: रेवाड़ी के बावल में भी हंगामा, नकाबपोश हमलावरों ने दुकान और रेस्टोरेंट में की तोड़फोड़

<p style="text-align: justify;"><strong>Haryana News:</strong> हरियाणा के रेवाड़ी जिले के बावल में असामाजिक तत्वों द्वारा दुकान और रेस्टोरेंट में तोड़फोड़ करने का मामला सामने आया है. दर्जनभर नकाबपोश असामाजिक तत्वों ने एक सैलून शॉप का ताला तोड़कर दुकान के भीतर तोड़फोड़ की. जिसके बाद एक रेस्टोरेंट में घुसकर भी तोड़फोड़ की गई. रेस्टोरेंट में बैठी महिलाओं ने अंदर छुपकर अपनी जान बचाई. घटना की सूचना मिलने पर पुलिस तुरन्त मौके पर पहुंची तो हमलावर वहां से फरार हो गए.</p>
<p style="text-align: justify;">रेवाड़ी जिले के बावल में असामाजिक तत्वों ने पहले तो एक सैलून शॉप को अपना निशाना बनाया. उसके अंदर जमकर तोड़फोड़ की, जिसके बाद हमलावर एक रेस्टोरेंट में पहुंच गए, वहां भी उन्होंने तोड़फोड़ शुरू कर दी. रेस्टोरेंट में टेबल पर रखे एक मोबाइल फोन को तोड़ दिया गया. रेस्टोरेंट में बैठी महिलाएं ये सब देखकर घबरा गई उन्होंने रेस्टोरेंट के अंदर छुपकर अपनी जान बचाई. रेस्टोरेंट के अंदर हुई सारी घटना एक सीसीटीवी में भी कैद हो गई. घटना की सूचना जैसी ही पुलिस के पास पहुंची तो पुलिसकर्मी मौके पर पहुंच गए. तब तक हमलावर वहां से फरार हो गए. घटना को लेकर लोगों का कहना है कि आपसी भाईचारे को खराब करने की कोशिश की जा रही है. ऐसे करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए.&nbsp;</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>रेवाड़ी के साथ लगते जिले नूंह में भी तनाव</strong></p>
<p style="text-align: justify;">आपको बता दें कि नूंह में सोमवार को विश्व हिंदू परिषद द्वारा निकाली जा रही ब्रज मंडल यात्रा के दौरान हिंसा और बवाल के बाद तनाव की स्थिति बनी हुई है. नूंह के बाद सोहना और फिर गुरुग्राम में भी हिंसा की आग फैलती गई. इस हिंसा में अबतक 5 लोगों की मौत हो गई है, मरने वालों में दो होम गार्ड के जवान भी शामिल है. नूंह जिले में इंटरनेट सेवाएं भी बंद की गई है.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>यह भी पढ़ें: <a title="Nuh Violence: IPS ममता सिंह की जाबाजी से बची ढाई हजार लोगों की जान, पत्थरबाजी और गोलियों के बीच से ऐसे निकाला बाहर" href="https://www.abplive.com/states/punjab/ips-mamta-singh-evacuated-two-and-a-half-thousand-people-safely-2465062" target="_blank" rel="noopener">Nuh Violence: IPS ममता सिंह की जाबाजी से बची ढाई हजार लोगों की जान, पत्थरबाजी और गोलियों के बीच से ऐसे निकाला बाहर</a></strong></p>

Leave a Comment