बिशप पी सी सिंह बुरे काम का बुरा नतीजा, आज बाप बेटा दोस्त सभी के सभी जेल में हैं

बिशप पी सी सिंह बुरे काम का बुरा नतीजा, आज बाप बेटा दोस्त सभी के सभी जेल में हैं, सीएनआई मसीही समाज
बिशप पी सी सिंह बाप बेटा

बिशप पी सी सिंह बुरे काम का बुरा नतीजा, आज बाप बेटा दोस्त सभी के सभी जेल में हैं, सीएनआई मसीही समाज, *बुरे काम का बुरा नतीजा* पाप पहले मज़ा दिलाता है फिर कष्ट में फंसाता है और रुलाता है।

जब प्रभु के लोग इनके जैसे सीएनआई मैथोडिस्ट पैरा चर्च आदि संस्थाओं के बहुतेरे अधिकारियों को इशारा करते या चेतावनी देते हैं तो ये लोग उनको अपना दुश्मन मानकर उनको अपने आस पास दूर हटा देते हैं एक्स कम्युनिकेट कर देते हैं ।

पी सी सिंह चेतावनियों का जो उपहास करते हैं उनका ये ही हाल होता है, आज बाप बेटा दोस्त सभी के सभी जेल में हैं

चेतावनियों का जो उपहास करते हैं उनका ये ही हाल होता है, आज बाप बेटा दोस्त सभी के सभी जेल में हैं, अभी बहुत सारे बाहर घूम रहे हैं, उनका नंबर भी आना चाहिए, आयेगा ।

परमेश्वर का वचन बताता है :
धोखा न खाओ बुरी संगति अच्छे चरित्र को बिगाड़ देती है ।

CNI के आला अधिकारी अभी भी अपनी बुद्धि का सहारा ले लेकर अपने दुष्कर्मों पापों को ढांपने की बेकार कोशिश कर रहे हैं।

जितने भी अधिकारी जिनका भ्रष्टाचारी इतिहास रहा हैं उनको तत्काल प्रभाव से उनके पद से हटा देना चाहिए, अन्यथा आज नहीं तो एक दिन उन सभों का भी वो ही हश्र होगा जो पी सी सिंह आदि का हुआ है।

इसके अलावा सीएनआई को खुद अपनी पहल करते हुए सबसे पहले पी सी सिंह उनके द्वारा किए गए पापों के लिए उनके पूर्व पद ( मॉडरेटर फिर बिशप ) से बर्खास्त कर देना चाहिए । उसके बाद बाकी लोगों को भी।

क्या सीएनआई एक पूर्ण भ्रष्ट और पूरी तरह से गैर कानूनी कृत्य करने की संस्था बन गई है ?? जो किसी भी नियम किसी भी कानून को नहीं मानती है??

हां, ऐसा ही है, और ऐसी शर्मनाक स्थिति को मसीही समाज को बिलकुल भी बर्दाश्त नहीं करना चाहिए, हर ज़िला प्रशासन को इन भ्रष्ट अधिकारियों के कारनामों पर कार्यवाही करने का ज्ञापन देना चाहिए।

*बिशप पी सी सिंह आदि के पूरे परिवार को सीएनआई से एक्स कम्युनिकेट किया जाना चाहिए जिन्होंने पूरे मसीही समाज की छवि को धूमिल किया है*।

परमेश्वर का भय भाव ही बुद्धि का आरम्भ है,

और इस भय को सीएनआई के पदाधिकारियों ने उपहास की वस्तु बना दिया था और अब सब इसका परिणाम भुगत रहें हैं, और सुधर नहीं तो आगे भी भुगतेंगे।

मेरी बातें कड़वी ज़रूर हैं पर जीवन लिए हुए हैं, मानों तो अच्छा न मानों तो शैतान फाड़ खाने को तैयार है।

संकरा है वो मार्ग जो जीवन को ले जाता है।

प्रभु का भय मानने वालों को शांति मिले।
मसीह में आपका भाई
विजय ललित लाल
9555256507.
(जो सहमत हैं वो सम्पर्क कर अपनी राय और विचार साझा कर सकते हैं)

Mahender Kumar
Author: Mahender Kumar

Journalist

Leave a Comment