प्रेमी का कर्ज उतरवाने के लिये कातिल बनी प्रेमिका, मालकिन के घर डलवाया डाका, करवाई हत्या

अमेठी. चार दिन पहले हुए बुजुर्ग महिला की हत्या का पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा कर दिया. हत्या में शामिल एक युवती समेत चार अभियुक्तों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. हत्यारों के पास से हत्या में प्रयुक्त हंसिया, चाकू, 15 हजार रुपए, आर्मी आश्रित दो कार्ड, दो मोबाइल फोन और घटना में प्रयुक्त एक मोटरसाइकिल बरामद हुए हैं. एसपी ने मामले का खुलासा करने वाली टीम को 25 हजार रुपए नगद इनाम देने की घोषणा की है.

दरअसल ये पूरा मामला मुंशीगंज थाना क्षेत्र के हरिहरपुर पूरे कलन्दर गांव का है जहां की रहने वाली 64 वर्षीय बुजुर्ग महिला माया देवी की 20 मार्च को दिनदहाड़े गला काटकर निर्मम हत्या कर दी गई थी. दिनदहाड़े हुई निर्मम हत्या की सूचना मिलते ही प्रसाशनिक अमले में हड़कंप मच गया और एसपी ने घटनास्थल का निरीक्षण कर जल्द से जल्द मामले का खुलासा करने के लिए मुंशीगंज एसएचओ शिवाकांत पांडेय को निर्देशित किया. मौके पर फोरेंसिक टीम को साक्ष्यों को इकट्ठा करने के लिए लगाया गया. एसपी ने निर्देश मिलते ही हरकत में आई मुंशीगंज पुलिस ने आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों को खंगालने के साथ ही सर्विलांस की मदद से हत्यारों की तलाश में जुट गई.

देर रात मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने भुसियावा तिराहे के पास से रोशन यादव, अंकुश यादव और विनय यादव को गिरफ्तार किया जबकि पलक चतुर्वेदी को उसके घर से गिरफ्तार किया गया. एसपी ने बताया कि दरअसल गांव की रहने वाली पलक चतुर्वेदी का गांव के ही रहने वाले अंकुश से प्रेम प्रसंग चल रहा था.पलक अक्सर माया के घर खाना बनाने जाती थी साथ ही वहां रुक भी जाती थी. पलक के प्रेमी अंकुश ने मार्केट से काफी पैसा उधार ले रखा था जिसे वापस करने का उस पर दबाव पड़ रहा था. अंकुश ने जब पूरी बात पलक को बताई तो पलक ने कहा कि गांव के ही रहने वाले करुणा शंकर तिवारी के पास काफी पैसा है.

आपके शहर से (अमेठी)

उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश

और उसके सभी बेटे नौकरी करते है और बेटियों की शादी हो गई है. घर में सिर्फ करुणाशंकर और उनकी पत्नी माया देवी ही रहते हैं. योजना के मुताबिक पलक 19 मार्च की सुबह माया के घर पहुंची और उसे खाने में नशीला पदार्थ खिलाकर सुला दिया लेकिन उस दिन किसी कारण घटना नहीं हो सकी. प्लान के तहत 20 मार्च को पलक माया के पति करुणा शंकर तिवारी को दवा दिलाने शाहगढ़ बाजार ले गई, जिसके बाद इसी गांव के दूसरे पुरवे के रहने वाले अंकुश यादव, विनय यादव और रोशन यादव माया देवी के घर मे दोपहर करीब 12 बजे दाखिल हुए.

इस दौरान सभी ने चाकू से हमला कर दिया लेकिन चाकू टूट गया, जिसके बाद साथ लाये हंसिये से गला काटकर निर्मम हत्या कर दी. हत्या के बाद हत्यारों ने पूरे घर की तलाशी ली. आलमारी और बॉक्स को तोड़कर 32,000 रुपए, मोबाइल फोन, आधार कार्ड सहित कई सामान लेकर मोटरसाइकिल से फरार हो गए. घटना का खुलासा करते हुए अमेठी एसपी डॉक्टर इलामारन ने कहा कि मामले का खुलासा करने करने वाली टीम को 25 हजार रुपए का नगद इनाम भी दिया जाएगा.

Tags: Amethi news, Crime News, Murder, UP news


Source link

Mahender Kumar
Author: Mahender Kumar

Journalist

Leave a Comment