किम जोंग के देश में घुसा अमेरिकी सैनिक, उत्तर कोरिया ने किया दावा, अमेरिका ने दिया यह जवाब

किम जोंग के देश में घुसा अमेरिकी सैनिक, उत्तर कोरिया ने किया दावा, अमेरिका ने दिया यह जवाब- India TV Hindi

Image Source : FILE
किम जोंग के देश में घुसा अमेरिकी सैनिक, उत्तर कोरिया ने किया दावा, अमेरिका ने दिया यह जवाब

America and North Korea: एक अमेरिकन सैनिक इन दिनों अमेरिका से मोहभंग होने के बाद उत्तर कोरिया पहुंच गया है। खुद उत्तर कोरिया ने इस बात का दावा किया है। उत्तर कोरिया ने अपने दावे में कहा है कि पिछले महीने भारी सुरक्षा व्यवस्था वाली सीमा को पार कर उत्तर कोरिया में प्रवेश करने वाले अमेरिकी सैनिक ने अपने देश के समाज की असमानता और उसकी सेना में नस्ली भेदभाव से निराश होकर ऐसा किया था। यह अमेरिकी सैनिक ट्रैविस किंग को हिरासत में लेने की उत्तर कोरिया की पहली आधिकारिक पुष्टि है।

18 जुलाई को किया था उत्तर कोरिया की सीमा में प्रवेश

दक्षिण कोरिया में तैनात ट्रैविस किंग 18 जुलाई को एक सीमावर्ती गांव के दौरे के दौरान उत्तर कोरिया में घुस गए थे। वह लगभग पांच वर्षों में उत्तर कोरिया में हिरासत में लिए जाने वाले पहले अमेरिकी बन गए। आधिकारिक कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी (केसीएनए) ने संबंधित उत्तर कोरियाई अधिकारियों की जांच का हवाला देते हुए बताया कि किंग ने उन्हें बताया कि उन्होंने उत्तर कोरिया में प्रवेश करने का फैसला किया क्योंकि ‘उनके मन में अमेरिकी सेना के भीतर अमानवीय दुर्व्यवहार और नस्ली भेदभाव के विरुद्ध भावनाएं थीं।’

रिपोर्ट में कहा गया है कि किंग ने उत्तर कोरिया या किसी तीसरे देश में शरण लेने की इच्छा भी व्यक्त की और कहा कि वह ‘अमेरिकी समाज में मौजूद असमानता से निराश हैं।’ रिपोर्ट में कहा गया है कि किंग के ‘अवैध’ रूप से सीमा प्रवेश के मामले में जांच जारी रहेगी। हालांकि उत्तर कोरिया के सरकारी मीडिया में आई किंग की टिप्पणियों की प्रामाणिकता की पुष्टि करना संभव नहीं है। अमेरिका, दक्षिण कोरिया और अन्य ने उत्तर कोरिया पर विदेशी बंदियों से राजनयिक छूट छीनने का आरोप लगाया है। 

कुछ विदेशी बंदियों ने अपनी रिहाई के बाद कहा कि उत्तर कोरिया की हिरासत में रहते हुए उनके अपराध की घोषणा दबाव के तहत की गई थी। अमेरिकी रक्षा विभाग की एक अधिकारी ने मामले की संवेदनशीलता के कारण नाम न छापने की शर्त पर कहा कि अमेरिका के पास किंग के बारे में उत्तर कोरिया के दावों को सत्यापित करने का कोई तरीका नहीं है। अधिकारी ने कहा कि पेंटागन किंग को अमेरिका वापस लाने के लिए सभी उपलब्ध माध्यमों के जरिए काम कर रहा है। 

अमेरिका ने कहा ‘ये उत्तर कोरिया का दुष्प्रचार

वर्जीनिया स्थित कंसल्टेंसी एलएमआई की विशेषज्ञ और पूर्व सीआईए विश्लेषक सू किम ने कहा, ‘‘यह वास्तव में शत प्रतिशत उत्तर कोरिया का दुष्प्रचार है। उत्तर कोरिया में कैद अमेरिकी नागरिक के तौर पर किंग को यह पता नहीं है कि (उत्तर कोरिया की ओर से) उनकी कहानी को कैसे पेश किया जा रहा है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘जहां तक किंग की रिहाई का सवाल है तो उनकी किस्मत अब उत्तर कोरिया के हाथों में है।

अमेरिकी सैनिक को छोड़ने के लिए उत्तर कोरिया चाहेगा वित्तीय रियायत

शायद उत्तर कोरिया का शासन अमेरिका से वित्तीय रियायतों के बदले किंग के जीवन का सौदा करने की कोशिश करेगा। अधिक संभावना है कि बातचीत आसान नहीं होगी और शर्तें उत्तर कोरिया द्वारा तय की जाएंगी।’ सैनिक के परिवार ने कहा कि उनकी मां क्लॉडाइन गेट्स ने उत्तर कोरिया से अपील की है कि उनके बेटे के साथ मानवीय व्यवहार किया जाए। 

Latest World News




Source link

Leave a Comment